10 Things You Should NEVER Do On Your Smart Phone

10 Things You Should NEVER Do On Your Smart Phone 

अगर आप भी कोई एंड्राइड फ़ोन लेने की सोच रहे हैं , या पहले से ही ले चुके हैं या काफी समय से किसी एंड्राइड फ़ोन को यूज़ कर रहे हैं।  
 
लेकिन आज का जो हमारा टॉपिक है उनमे से कोई एक काम तो आपने जाने अनजाने में ज़रूर किया होगा जो आपको अपने एंड्राइड फ़ोन में नहीं करना चाहिए था ।  आइये देखते है वो 10 Things You Should NEVER Do On Your Smart Phone
 
यह भी पढ़ें : Xiaomi ka India me success hone ka Secret
यह भी पढ़ें : Xiaomi ka India me success hone ka Secret
  • Unknown सोर्सेस से एप्प डाउनलोड करना 
बहुत से लोग प्ले स्टोर के अलावा बाहरी किसी एप्प या वेबसाइट से एप्प डाउनलोड करके इनस्टॉल कर लेते हैं जो की बिलकुल भी भरोसेमंद नहीं है और उस से आपके फ़ोन को छति पहुंच सकती है। 

आपने नया फ़ोन लिए और एप्प्स डाउनलोड करने हैं तो आप प्लेस्टोर से डाउनलोड करें , क्युकी बहुत से लोग गूगल पे सर्च करते है कई साड़ी वेबसाइट और अलग अलग एप्प मार्किट से एप्प डाउनलोड कर लेते हैं। 
 
लोग ऐसा इस लिए करते हैं क्युकी कुछ एप्प प्लेस्टोर पर   फ्री नहीं मिलता और दूसरी वेबसाइट पर आसानी से फ्री में मिल जाता है, लेकिन आपको ऐसा नहीं करना चाहिए , इस से Piracy को बढ़ावा मिलता है। 
 
और  बात  आप जो एप्प डाउनलोड कर रहे हैं वो प्लेस्टोर पर कोडेड नहीं है , और हो सकता है डेवलपर ने उसको चेंज या मॉडिफाई कर दिया हो जिस से आपके सभी कांटेक्ट , Msg , जरूरी फाइल्स या सेकरते डाटा उनके पास चला जाये।  
 
आप जो भी एप्प डाउनलोड करें प्लेस्टोर से ही करें उस पर 2 बिलियन  से ज्यादा एप्प मौजूद हैं। 
  • रीसेंट एप्प्स को किल करना या फ़ोर्स क्लोज करना 
आप में से 90 % लोग अपने फोन में रीसेंट एप्प (जो उन्होंने पहले ओपन किया था )  उसको क्लोज करते हैं दाए या बाए की तरफ सरका कर और सोचते हैं की उस से उनका फ़ोन स्पीड तेज़ हो रहा है। 
 
यह करना भी गलत है , क्युकी एंड्राइड को इस तरह से बनाया गया है की वो कब कौनसा अप्प यूज़ करना है और कौन सा बंद रखना है वो जानता है। फ़ोन के लिए जब RAM काम पड़ेगी तो अपने आप ही वो Cache  को क्लीन कर लेता है और एप्प को चलने के लिए जगह बना लेता है। 
 
आप सोचते हैं की आपने एप्प को फाॅर्स क्लोज कर दिया है तो अब आपका फ़ोन स्पीड से चलेगा लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। 
 
आपने जिस एप्प को बंद किया है अगर दुबारा उसको खोलेंगे तो वो फिर से शुरुआत  से चालू होगा इस से आपके फ़ोन के प्रॉसेसर और बैटरी पर असर पड़ेगा। अगर आप उसको रीसेंट एप्प में ही ऑन रहने देंगे तो  दुबारा खोलते समय ज्यादा समय नहीं लगाएगा और प्रोसेसर पर ज्यादा प्रभाव भी नहीं पड़ेगा। 
 
  • एंटीवायरस का इस्तेमाल 
बहुत से लोग नया फ़ोन लाते ही सोचते हैं कोई अच्छा सा एंटीवायरस डाउनलोड कर लें लेकिन ऐसा करना बिकुल गलत है। एंटीवायरस का इस्तेमाल कंप्यूटर के लिए ही सही है लेकिन एंड्राइड में एंटीवायरस का कोई यूज़ नहीं है , एंड्राइड को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है की उसमे कभी वायरस नहीं आ सकता , ब -शर्ते आपका फ़ोन और धीमा हो  सकता है और बैटरी की लाइफ काम हो सकती है। 
  • बैटरी सेवर का प्रयोग  
बहुत से लोग सोचते हैं की कोई बैटरी सेवर एप्प डाउनलोड कर लेने से उनके फ़ोन की बटेर बहुत धीरे धीरे ख़त्म होगी लेकिन  ये ज्यादा से ज्यादा 1 महीने तक सही चलेगा फिर आपने फ़ोन की बैटरी की लाइफ ख़त्म हो जाएगी और मुश्किल से दिन के 4 घंटे भी नहीं चलेगा। इस लिए अगर आप अपने फ़ोन को ज्यादा चलना चाहते हैं तो गलती से भी कोई बैटरी सेवर न डाउनलोड करें। 

यह भी पढ़ें : Best Smart Phones (November 2017) !! 2017 ke सबसे अच्छे स्मार्टफोन

  • फेक एप्प्स का इस्तेमाल  
फेक एप्प का मतलब यह है जैसे आपको अपने फ़ोन में GTA 5 खेलना है और आप उसका APK ढूंढ रहे हैं , यूट्यूब पर आपको हज़ारो वीडियो मिल जायेंगे जिस में आपको GTA 5 का डाउनलोड लिंक भी दिया जायेगा।  
लेकिन डाउनलोड करने पर वो कुछ और निकलेगा कई बार आपका कीमती डिटेल्स या कांटेक्ट भी उनके पास पहुंचने का डर रहेगा।
  • Cache मेमोरी को क्लीन करना 
सभी लोग चाहते हैं की उनका फ़ोन एकदम अच्छा चले और तेज़ चले इस लिए वो बार बार फ़ोन की Cache मेमोरी को क्लियर करते रहते हैं।  लेकिन यह भी गलत है।  इसके लिए लोग अपने फ़ोन में बहुत सारे एप्प भी डाउनलोड हैं जिसमे क्लिक करते ही झाड़ू जैसा घूमता है और Cache क्लियर हो जाती है लेकिन उस से आपके फ़ोन के RAM पर बुरा असर पड़ता है। ऐसी किसी भी एप्प को इनस्टॉल करने की जरूरत नहीं है। 
 
Cache डाटा टेम्पेरेरी डाटा को कहते हैं, जैसे आपने कोई अप्प लॉगिन किया उसमे आपने अपना कुछ टाइपिंग कर के सेव कर लिया , बाद में आपने कैश को क्लीन कर दिया तो आपका सेव किया हुआ टाइपिंग का डाटा ख़त्म हो जायेगा। 
 
 
 
  • नकली मेसेज से बच कर रहें 

 

व्हाट्सप्प या फेसबुक पर आपने कई बार देखा होगा की आपको कोई भेजता है “इस एप्प को डाउनलोड करके पाओ 20 Rs का टॉक टाइम , या एप्प डाउनलोड करे और कमाए 2000 Rs रोज़ाना “ इस तरह के एप्प से भी बचकर रहे ये स्टार्टिंग में तो कुछ पैसे दे देते है बाद में कई प्रकार के अप्प डाउनलोड हो जाने के बाद आपके फ़ोन को धीमा कर देते हैं।  
  • बिना जानकारी के फ़ोन को रूट करना 
बहुत से लोग एंड्राइड फ़ोन को रुट करने में बहुत ज़्यादा खुश होते हैं लेकिन बात ऐसी है की अगर आपको मालुम है की रुट करने के बाद क्या करना है आप फ़ोन को क्यों रुट करना चाहते है , तो ही आप रुट करें अन्यथा न करें। 
क्युकी रुट कर लेने के बाद कंपनी आपको वारंटी नहीं देगी या हो सकता है रुट करते वक़्त आपका फ़ोन हमेशा के लिए बंद हो जाए। पहले पूरी चीज़े क्लियर कर लें तब ही आगे बढे। 
 
  • एप्प परमिशन को इग्नोर 
किसी भी अप्प को आप अपनी मर्ज़ी से उसकी परमिशन को इनेबल या डिसेबल कर सकते हैं। परमिशन का मतलब ये है की आपके फ़ोन में बहुत सारे मेसेजस हैं या कांटेक्ट है , फोटो , वीडियो हैं 
 
अब आप कोई एप्प इनस्टॉल कर रहे है तो उसमे आपसे कांटेक्ट का ;परमिशन मांग रहा है , इसका मतलब आपके परमिशन ों करते ही साड़ी डिटेल्स उस एप्प के डेवलपर के पास जा सकेंगी। 
 
तो कोई भी अप्प डाउनलोड करने से पहले या परमिशन को इनेबल करने से पहले पता कर लें की उस से आपके फ़ोन को क्या असर पद सकता है या क्या फायदा हो सकता है। 
 
  • फ़ोन को रीस्टार्ट करना 
आप लोगो को लगता होगा स्मार्टफोन तो बना ही है देर देर तक यूज़ करने के लिए, लेकिन कभी आपने सोचा है की फ़ोन को भी रेस्ट मिलना चाहिए ?
 
आपको अपना फ़ोन दिन में 1 या 2 बार कुछ समय के लिए रीस्टार्ट  करना चाहिए जिस से सभी फंक्शन एक दम सही से काम करेंगे। 
 
उम्मीद है आपको 10 Things You Should NEVER Do On Your Smart Phone. पोस्ट अच्छा लगा होगा और भी ऐसे पोस्ट के लिए  करें हमारी वेबसाइट www.hitechpcworld.com पर।  
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *